Skip to content

Cats Eye Bracelet with 7 Chakra

₹3,600.00
Cat Eye gemstone benefits in hindi – लहसुनिया केतु का रत्‍न है जो कि बेहद चमकीला होता है। अपनी विशेष बनावट के कारण इसे अंग्रेजी में ‘कैट्स आई’ कहा जाता है। ये सफेद, काला, पीला और हरा चार रंगों में पाया जाता है जिनमें से प्रत्‍येक में धारियां होती हैं।
यह बेरिलियम का एल्‍युमिनेट है। इसी कारण यह अंधेरे में बिल्‍ली की आंख जैसा चमकता है। इसका घनत्‍व 3.78 होता है और कठोरता 8.50होती है।
ज्‍योतिष और लहसुनिया रत्न:
जन्‍मकुंडली में केतु दूषित हो, दुर्बल हो या अस्‍त हो तो Lehsunia पहनना लाभकारी होता है। कुंडली में निम्‍न बातें हो तो लहसुनिया पहना जा सकता है।
कुंडली में दूसरे, तीसरे, चौथे, पांचवें, नवें और दसवें भाव में यदि केतु उपस्थित हो तो लहसुनिया पहनना लाभकारी सिद्ध होता है।
कुंडली के किसी भी भाव में अगर मंगल, बृहस्‍पति और शुक्र के साथ में केतु हो तो लहसुनिया अवश्‍य पहनना चाहिए।
केतु सूर्य के साथ हो या सूर्य से दृष्‍ट हो तो भी Lehsunia धारण करना फायदेमंद होता है।
कुंडली में केतु शुभ भावों का स्‍वामी हो और उस भाव से छठे या आठवें स्‍थान पर बैठा हो तो भी लहसुनिया पहना जाता है।
कुंडली में केतु पांचवे भाव के स्‍वामी के साथ हो या भाग्‍येश के साथ हो तो भी Cat Eye Stone पहनना चाहिए।
कुंडली में केतु धनेश, भाग्‍येश या चौथे भाव के स्‍वामी के साथ हो या उनके द्वारा देखा जा रहा हो तो भी लहसुनिया पहनना चाहिए।
केतु की महादशा और अंतरदशा में भी Cat Eye Stone धारण करना अत्‍यंत फलदायक होता है।
केतु से संबंधित वस्‍तुओं और इससे संबंधित स्‍थानों में उन्‍नति के लिए भी लहसुनिया धारण करें।
केतु अगर शुभ ग्रहों के साथ हो तो भी Lehsunia धारण किया जाता है।
भूत-प्रेत आदि से बहुत ज्‍यादा डर हो तो भी लहसुनिया पहन कर ऐसे डर को दूर किया जा सकता है।
केतु से होने वाली जन्‍मदोष निवृत्ति के लिए भी लहसुनिया पहनना लाभदायक होता है।
लहसुनिया रत्न के गुण:
ये अपने आकार से ज्‍यादा वजन का लगता है। चमकदार और चिकना होता है साथ ही लंबी-लंबी सफेद धारियां होती हैं। अंधेरे में भी यह बिल्‍ली की आंख की तरह चमकता है। यह केतु का रत्‍न होता है और पहनने पर यह केतु से संबंधित दोष खत्‍म कर देता है।
Day - Wednesday/ Sunday